एटीएम कार्ड धारक रहे सावधान ठग नए-नए तरीके से लोगो को लगा रहे है चुना ।

0

Bilaspur AbdsNews – टेक्नोलॉजी के इस दुनिया में लोग बैंकों की भीड़भाड़ से बचने तथा समय की बचत करने के लिए एटीएम का उपयोग करते है। लोगों की यह सहूलियत कभी – कभी असावधानी या अन्य कारण से भारी आर्थिक नुकसान पहुंचा भी रहा है। ठग नए-नए तरीके अपनाकर लोगो को चुना लगा रहे है। एटीएम क्लोनिंग के जरिये फ्रॉड का मामला एक बार फिर सामने आया है। ठगों ने शातिर तरीके से दो घंटे के भीतर शहर के तीन लोगो के खाते से 22 हजार रूपये पार कर दिए। भारतीय स्टेट बैंक के एटीएम को टारगेट कर घटना को अंजाम दिया है। तारबाहर पुलिस ने साइबर सेल का मामला बताकर अपना पल्ला झाड़ लिया है।

इस प्रकार की घटना शहर में थमने का नाम नहीं ले रहा है। तेलीपारा,गोलबाज़ार और व्यापार विहार स्थित एसबीआई ठगों के निशाने पर है गुरूवार को एक के बाद एक तीन घटनाओं ने जहाँ पुलिस की सुस्त पेट्रोलिंग की पोल खोल दी। ठगों,अपराधियों के हौसले इतने बुलंद है कि तारबाहर थाने से महज 100 मीटर की दुरी पर स्थित एसबीआई एटीएम से तीन ग्राहकों के खाते से एटीएम की क्लोनिंग बनाकर 22 हजार रूपये पार कर दिए।

ग्राहकों को जब इसकी जानकारी हुई तो पहले तो उन्होंने बैंक से संपर्क किया और अपना एटीएम कार्ड ब्लॉक करवाया फिर पुलिस थाने रिपोर्ट कराने गए जहाँ पर उन्हें निराशा हाथ लगी। तारबाहर थाने के थानेदार ने स्पष्ट कह दिया की यह साइबर सेल का मामला है रिपोर्ट वही दर्ज करिये यहाँ नहीं होगा। पता चला की शिकायत के 5 घंटे बाद भी सायबर सेल की अधिकारियों को इसकी भनक तक नहीं है। शातिरों ने बड़ी चालाकी से सीएमडी चौक स्थिक एसबीआई एटीएम से सभी के खातों से रकम पार किये।

उक्त घटना की बाद पुलिस की कार्य प्रणाली भी सवालों के घेरे में आ गयी है। पुलिस तत्काल एक्शन क्यों नहीं लेती कब तक अपराधी,ठग इस प्रकार की घटना को अंजाम देकर मजा उड़ाते रहेंगे। एटीएम कार्ड धारक को भी सावधानी बरतने की बहुत आवश्यकत है। लोगों को सुनसान इलाके के एटीएम में नहीं जाना चाहिए,गुप्त पिन को लगातार बदलते रहना चाहिए,आसपास किसी भी प्रकार की कोई कैमरा न हो इसकी ध्यान रखना चाहिए,ओटीपी पासवर्ड आदि किसी को बताना नहीं चाहिए,राशि निकालते समय किसी भी बाहरी व्यक्ति से मदद नहीं लेनी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here