लगातार बारिश से दुर्लभ गेंडे एवं हिरणों के जान खतरे में।

0

असम AbdsNews –असम में लगातार बारिश होने के वजह से ब्रम्हपुत्र एवं अन्य नदिया उफान पर है। बाढ़ के कारण जीवन अस्त व्यस्त एवं विकट हो गया है। राज्य के गोलघाट एवं नागौन जिलों में काजीरंगा पार्क के 90 प्रतिशत हिस्सा पानी में डूब चूका है।  जिस कारण से पार्क में रहने वाले दुर्लभ गेंडे,हिरण एवं अन्य जंगली जानवर की जान आफत में आ गयी है। पार्क के 90 प्रतिशत हिस्सा पानी से भर जाने के कारण जानवर ऊचे स्थान पर आकर इकठा होने लगे है।

जानवरों की जान खतरे में – पार्क में पानी भर जाने के कारण जानवरों के लिए पर्याप्त मात्रा में चारा उपलब्ध नहीं हो पा रहा है। कुछ टीले पर सभी जानवर एक साथ इकट्ठे हो रहे है जिससे जानवरों के बीच लड़ाई एवं भगदड़ की स्थिति उत्पन्न हो सकती है। गेंडे,हिरण एवं अन्य जानवर एक साथ एकत्रित हो गए है जिससे छोटे जानवरो के जान जाने का खतरा बना हुआ है।

पार्क में है दुर्लभ गेंडे – वैसे तो इस पार्क में बहुत से जंगली जानवर है लेकिन प्रमुख रूप से एक सिंघ वाले दुर्लभ प्रजाति के गेंडे यहाँ रहते है। लोग गेंडे को देखने के लिए ही प्रत्येक दिन बड़ी संख्या में यहाँ पहुँचते है। जानवरों को शिकार से बचाने के लिए 150 शिकार रोधी कैंप भी बर्बाद हो चूका है। ऐसे में इन जंगली जानवरो की शिकार होने का भय बना हुआ है।

असम में लगातार बारिश से छोटे बड़े सभी नदी नाले उफान पर है। लोगो को विभिन्न राहत कैम्पों में ठहराया जा रहा है। खाने पीने की सामग्री का पर्याप्त मात्रा में सप्लाई नहीं हो पा रहा है। बाढ़ के कारण विभिन्न मौसमी बीमारी लोगों को अपने चपेट में ले रहा है। बाढ़ से राहत के लिए सभी राज्यों की मदद की आवश्यकता है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here