प्रशासनिक स्थानांतरण ने राज्य में मचा रखा है बवाल

0

रायपुर AbdsNews – राज्य में लम्बे समय बाद खुली स्थानांतरण प्रक्रिया से जहाँ ट्रांसफर कराने वाले कर्मचारी खुश है तो वहीं दूसरी और ऐसे अधिकारी कर्मचारी है जिनका जबरदस्ती ट्रांसफर प्रशासनिक आधार पर कर दिया जा रहा है। ऐसे अधिकारी और कर्मचारी बहुत परेशान नजर आ रहे है। कर्मचारी के साथ साथ उनके परिवार वाले भी परेशान हो रहे है। राज्य में लगभग सभी जिलों में जिला स्तरीय ट्रांसफर सूचि जारी कर दिया गया है लेकिन अभी और कई जिलों में दूसरी लिस्ट जारी करने की तैयारी चल रही है। ट्रांसफर सूचि में लगभग 50 प्रतिशत प्रशासनिक आधार पर स्थानांतरण किया जा रहा है।

सभी जिलों में कलेक्टर द्वारा जो सूचि जारी किया गया है है उनमे ऐसे शिक्षकों का प्रशासनिक स्थानांतरण किया गया है जिनका किसी न किसी माध्यम से शिकायत पहुंचा है। तथा और बहुत से ऐसे शिक्षक है जो आये दिन नेतागिरी के नाम पर ऑफिस का चक्कर लगाते रहते है। ऐसे चिन्हाकित शिक्षकों का भी बहुत जगह स्थानांतरण कर दिया गया है। कुछ शिक्षक तो समझ ही नहीं पा रहे है की उनका स्थानांतरण क्यों कर दिया गया है।

स्थानांतरण प्रक्रिया को लेकर कई शिक्षक संगठन अब आवाज बुलंद करने लगे है। उनका कहना है की स्थानांतरण प्रक्रिया समस्या ग्रस्त शिक्षकों के समाधान के लिए है न की जबरदस्ती स्थानांतरण कर समस्या बढ़ाने के लिए। उनका मानना है की जिम्मेदार अधिकारी बिना किसी वजह के शिक्षकों का स्थानांतरण कर उन्हें मानसिक प्रताङना कर रहे है। शिक्षक जहाँ अपने परिवार के साथ व्यवस्थित जीवन यापन कर रहे है उन्हें जबरदस्ती दूर किया जा रहा है और परिवार में कलह पैदा करवा रही है।

राज्य स्तरीय स्थानांतरण में भी अनुमान लगाया जा रहा है की जो शिक्षक आये दिन स्कूल से गोल रहते है और नेतागिरी करते रहते है उनका भी ट्रांसफर होना लगभग फिक्स है। तथा बहुत से शिक्षक नेताओ का शिकायत भी मिल रहा है जिसे उक्त स्थानांतरण प्रक्रिया में छोड़ा नहीं जायेगा। राज्य स्तरीय स्थानांतरण सूचि भी जल्द जारी होने का अनुमान है। सभी शिक्षक नेताओं और स्थानांतरण के लिए आवेदन करने वाले शिक्षक उक्त सूचि का बेसब्री से इंतजार कर रहे है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here