सहायक शिक्षक के तबादले पर हाई कोर्ट ने लगाई रोक ,,,,,,,,कलेक्टर ने कर दिए थे सहायक शिक्षक का स्थानांतरण

0

बिलासपुर।  छत्तीसगढ़ शासन द्वारा वर्ष 2019 में नए स्थानांतरण नीति के तहत कर्मचारियों के स्थानांतरण के लिए आवेदन मंगाए गए थे जिसमे बहुत से कर्मचारियों ने ट्रांसफर के लिए आवेदन किये जिसमे बड़ी संख्या में शिक्षकों ने भी अपनी स्थानांतरण के लिए आवेदन लगाए। इसके साथ ही कुछ कर्मचारियों और शिक्षकों का स्थानांतरण प्रशासनिक स्तर पर भी किया गया है जिसका काफी विरोध भी हो रहा है।ट्रांसफर के सम्बन्ध में एक ऐसा ही मामला कोरिया जिले में हुई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार सहायक शिक्षक के स्थानांतरण आदेश पर हाई कोर्ट ने सुनवाई करते हुए फ़िलहाल ट्रांसफर पर रोक लगा दिया है। याचिकाकर्ता रंगलाल की प्रारंभिक नियुक्ति सहायक शिक्षक पंचायत के पद पर कोरिया जिले की शासकीय प्राथमिक शाला बेला जनपद पंचायत भरतपुर में हुई थी।

सहायक शिक्षक पंचायत रंगलाल का संविलियन 2018 में स्कूल शिक्षा विभाग में 30 जून 2018 को स्कूल शिक्षा विभाग के सचिव द्वारा दिशा निर्देश के अनुपालन में किया गया था। इसके बाद रंगलाल सहायक शिक्षक एल बी के पद में रहते हुए शिक्षकीय कार्य कर रहे थे। अभी वर्तमान में शासन द्वारा ट्रांसफर नीति  2019  के तहत कर्मचारियों का तबादला एक स्थान से दूसरे स्थान पर कर रही है।

कलेक्टर कोरिया द्वारा 12 जुलाई 2019 को रंगलाल सिंह का स्थानांतरण भरतपुर ब्लॉक के शासक्रिय प्राथमिक शाला कर्री से खड़गवां ब्लॉक के शासकीय प्राथमिक शाला धनराश कर दिया गया। इसकी जानकारी जब रंगलाल को हुआ तो वे भौचक्के रह गए की उनके बिना किसी सुचना के ट्रांसफर कैसे हो गया।

रंगलाल ने अपने ट्रांसफर के खिलाफ अधिवक्ता नरेंद्र मेहरे और संदीप सिंह के माध्यम से  याचिका हाई कोर्ट में पेश की। याचिका में यह आधार लिया गया की सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा 3 जून 2015 को जारी निति -निर्देश के पादखंड 2.2 में अनुसूचित क्षेत्रों में पदस्थापना के सम्बद्ध में यह निर्देशात्मक निति का उल्लेख किया गया था की जो शासकीय सेवक स्वेच्छा से अनुसूचित क्षेत्र में सेवा करना चाहता है उसे वहां से अन्य जगह स्थानांतरित न किया जाय।

इस प्रकार हाई कोर्ट ने सहायक शिक्षक रंगलाल सिंह के स्थनांतरण पर रोक लगा दी है। यह ट्रांसफर प्रशासन स्तर से किया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here