संविलियन होने के बाद भी समय पर नहीं मिल सका वेतन…….ये रही सबसे बड़ी वजह

0

रायपुर 12 अगस्त 19। राज्य शासन के द्वारा जारी संविलियन नियम के तहत 1 जुलाई 2019 की स्थित में 8 वर्ष या अधिक सेवा पूर्ण कर चुके शिक्षक पंचायत /नगरीय निकाय संवर्ग का स्कुल शिक्षा विभाग में संविलियन तो कर दिया गया, परन्तु जुलाई 19 का वेतन जारी नहीं किया जा सकता है।

 

बताया जाता है कि पुरे प्रदेश में यही स्थिति है। वेतन समय पर नहीं बनने का कारण ई-कोष अपडेशन को माना जा रहा है। पहले कर्मचारी कोड जारी करना आसान था ,परन्तु ई-कोष अपडेशन के कारण संविलियन होने वाले शिक्षकों का कर्मचारी कोड समय पर जारी नहीं हो ,सका जिससे वेतन भी नहीं बन पाया है।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक जितने भी अधिकारी।/कर्मचारी का वेतन ट्रेजरी के माध्यम से बनता है, उन सभी का जानकारी ई-कोष में उपडेट होना है जिसके लिए दो माह का समय दिया गया है।दो माह के अंदर इ -कोष में जानकारी अपडेट नहीं हो पाया तो 1 जुलाई 19 के पहले वाले अधिकारी /कर्मचारी का वेतन भी नहीं बन पायेगा।

1 जुलाई 19 को संविलियन होने वाले शिक्षक पंचायत /नगरीय निकाय संवर्ग जो कि संविलियन के पश्चात शिक्षक एलबी संवर्ग हैं ,उनको अपने पहले वेतन का बेसबरी से इन्तजार था क्योंकि राज्य शासन द्वारा जारी निर्देशों में बार बार कह जा रहा था कि संविलियन होने वाले शिक्षकों के जुलाई का वेतन अगस्त में पेड हो जाना है।

समय पर वेतन नहीं मिलने से संविलियन होने वाले शिक्षकों को छत्तीसगढ़ के पहली त्यौहार हरेली को तो बिना वेतन के सूखा -सूखा मनाना ही पड़ा ,बकरीद और रक्षाबंधन जैसे त्यौहार भी इस वर्ष बिना वेतन के ही मनाना पड़ेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here