राज्य कर्मचारी संघ छत्तीसगढ़ ने शिक्षाकर्मियों के पदोन्नति का किया विरोध ,कहा संविलियन के पांच साल बाद हो पदोन्नति

3

रायपुर (ABDS NEWS) :- राज्य कर्मचारी संघ छत्तीसगढ़ ने शिक्षाकर्मियों के पदोन्नति के सम्बन्ध में सचिव स्कूल शिक्षा विभाग छत्तीसगढ़ अटल नगर रायपुर को एक ज्ञापन दिया है जिसमे कहा गया है की स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा  शिक्षा कर्मियों  की पदोन्नति की प्रक्रिया की जा रही है लेकिन नियमित शिक्षक वर्षों से पदोन्नति से वंचित है। उन्होंने ये भी लिखा की शिक्षा विभाग में शिक्षकों की पदोन्नति पांच वर्ष सेवा पूर्ण  करने के पश्चात् गोपनीय चरित्रावली अनिवार्य है।जिसके बाद पदोन्नति होती है।लेकिन शिक्षाकर्मी इस दायरे में नहीं आते।

संविलियन का तर्क :-राज्य कर्मचारी संघ छत्तीसगढ़ ने अपने ज्ञापन में ये तर्क दिया है कि शिक्षाकर्मियों का संविलियन 2018 में हुआ है अतः वे पदोन्नति नियम से बाहर है। साथ ही उन्होंने कहा की संविलियन होने के पांच वर्ष सेवा के बाद ये लोग इस दायरे में आएंगे।

इसका मतलब हुआ कि कोई भी शिक्षाकर्मी जो अभी शिक्षक (एल बी ) संवर्ग है ,को 2023 तक कोई पदोन्नति का लाभ नहीं मिलेगा।  इससे शिक्षक एल बी संवर्ग काफी हतोत्साहित और आक्रोशित है।

क्या ये नियम बंधन सही है ,क्या शिक्षक एल बी पदोन्नति से वंचित रह जायेंगे ,ये तो विभाग ही बता पायेगा। लेकिन पता चला है की नियमित शिक्षकों की पदोन्नति लगातार प्रति वर्ष हो रही है ,बल्कि शिक्षा कर्मियों की पदोन्नति वर्षो से नहीं हुई है।  अब कर्मचारी संगठन ने अपने ज्ञापन में नियमित शिक्षकों के पदोन्नति नहीं होने का जिक्र क्यों किया है ,ये जांच का विषय है।

राज्य कर्मचारी संगठन छत्तीसगढ़ ने जो ज्ञापन सचिव स्कूल शिक्षा विभाग को सौंपे है उसका प्रति आप निचे देख सकते है।

ABDS NEWS 

3 COMMENTS

  1. वाट्सअप ग्रुप है तो निवेदन है जोड़ दीजिये
    9406065008

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here