संविलियन के बाद भी पदोन्नति/ क्रमोन्नति ,अनुकम्पा नियुक्ति जैसे सुविधाओं से वंचित शिक्षक एलबी संवर्ग आंदोलन के मूड में

0

रायपुर । तत्कालीन मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के घोषणा के पश्चात शिक्षक पंचायत संवर्ग के शिक्षकों का स्कूल शिक्षा विभाग में संविलियन तो कर दिया गया ,परन्तु नियमित शिक्षकों के जैसे सुविधाओं के लिए आज भी भटकना पड़ रहा है। शिक्षक एलबी संवर्ग द्वारा पदोन्नति ,क्रमोन्नति और अनुकम्पा नियुक्ति के संबंध में विभिन्न स्तर पर ज्ञापन सौपा जा रहा है ,परन्तु समस्या का समाधान होते नजर नहीं आ रहा है।

शासन के संविलियन घोषणा के अनुसार शिक्षक पंचायत संवर्ग का शिक्षा विभाग में संविलियन होने से उन्हें वे सारी सुविधाएँ मिलना था जो एक नियमित शिक्षक मिलता है ,ऐसे में पदोन्नति ,क्रमोन्नति तथा अनुकम्पा नियुक्ति जैसे सुविधाओं का न मिलना चिंता का विषय बना हुआ है ,शायद यही कारण है कि शिक्षक संवर्ग आंदोलन का रुख अपने को मजबूर हो रहे हैं।

संघ के पदाधिकारियों के रवैये को लेकर सहायक शिक्षकों में सबसे ज्यादा असंतोष है क्योंकि सहायक शिक्षक एलबी को पदोन्नति /क्रमोन्नति नहीं मिलने से सबसे ज्यादा आर्थिक नुकसान उठाना पड़ रहा है। सहायक शिक्षक संवर्ग का कहना है कि संघ के नेताओं द्वारा हमेशा सहायक शिक्षकों को ही बलि का बकरा बनाया जाता है।

शिक्षकों में इस बात को लेकर भी असंतोष पनप रहा है कि जब मध्य प्रदेश के तर्ज पर संविलियन किया गया है तो मध्य प्रदेश के तर्ज पर प्रथम नियुक्ति से वरिष्ठता सूची तैयार किया जाना चाहिए।

शिक्षक इन सब के लिए विभिन्न शिक्षक संघ के बीच चल रहे मनमुटाव को जिम्मेदार बता रहे हैं तथा सभी संघों से आग्रह भी किया जा रहा है कि 17 संगठन के स्थान पर मध्य प्रदेश जैसे एक ही संघ के बैनर आंदोलन करना चाहिए ,परन्तु सभी पदाधिकारी पद लोलुपता और अड़ियल रवैये के कारण एक बैनर तले आने को तैयार ही नहीं हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here