शिक्षा कर्मी वर्ग तीन का हुआ तबादला ,,,,संविलियन नहीं हुआ था फिर भी कर दिया ट्रांसफर ,,,,,,ट्रांसफर सूचि में एक के बाद एक कई गड़बड़ी

0

बिलासपुर।  छत्तीसगढ़ शासन ने कर्मचारियों के हित  को ध्यान में रखकर तबादला निति 2019 बनाया है और इसके तहत ही कर्मचारी अपना स्थानांतरण करा सकते है। ट्रांसफर करने के के लिए शासन स्तर से तिथि भी निर्धारित कर दी गयी है इस  अंदर ट्रासंफर चाहने वाले कर्मचारी आवेदन  किये है और उनका ट्रांसफर सूचि भी प्रकाशित कर दी गयी है।

जिले के प्रभारी मंत्री के अनुमोदन के बाद जारी शिक्षकों की तबादला सूचि में एक के बाद एक कई त्रुटियां सामने आ रही है। शिक्षा विभाग के अधिकारियो ने अपने चहेतों को शहर के स्कूलों में लेन के लिए नियम कानून को भी किनारे कर दिया है।  और अपने मर्जी से जिनका चाहे ट्रांसफर किये जा रहे है।

ट्रांसफर सूचि में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसमे शिक्षा कर्मी वर्ग तीन जिसका अभी संविलियन नहीं हुआ है उनका ट्रांसफर कर दिया गया है। इसमें शिक्षा कर्मी वर्ग तीन को सहायक शिक्षक एल बी बता कर स्थानांतरण कर दिया गया है। इसकी जानकारी होने के बाद भी विकासखंड शिक्षा अधिकारी ने शिक्षिका को शहर के स्कूल में पदभार ग्रहण करा दिया है। जब ये बातें सामने आने लगी तो मामला को दबाने का प्रयास किया जा रहा है।

प्रदेश सरकार ने जिला स्तर पर तबादला चाहने वाले कर्मचारियों का आवेदन 28 जून से 12 जुलाई तक मंगाया था। साथ ही सम्बंधित विभाग से सूचि को जांच के बाद ही तबादला सूचि में शामिल करने की अनुशंसा की गयी थी। इसमें शिक्षा विभाग में तबादले के नाम पर जमकर खेल खेला गया। साथ ही शिक्षकों को गाओं से शहर के स्कूलों में लेन के लिए बड़ी रकम भी लिया गया है।

ट्रांसफर सूचि को लेनदेन होने के बाद आँख बंद करके कलेक्टर के माध्यम से प्रभारी मंत्री के पास भेज दिया गया जहाँ से ट्रांसफर सूचि जारी भी कर दिया गया। इस सूचि में जिले के अंदर कुल 258 शिक्षकों का तबादला किया गया जिसमे अधिकतर शिक्षक एल बी है। आपको ज्ञात होगा की अभी भी शिक्षाकर्मीयो के तबादले में बेन लगा हुआ है।

शिक्षाकर्मियों को शिक्षक एल बी बता कर गांव के स्कूल से शहर के स्कूल में तबादला कर दिया गया है। यह मामला बिल्हा ब्लॉक का है। बिल्हा ब्लॉक के शासकीय शासकीय प्राथमिक शाला अमेरी (अकबरी ) में पदस्थ शिक्षाकर्मी वर्ग तीन श्री मति शाहिना शहनाज अंसारी का तबादला सहायक शिक्षक एल बी बताकर शासकीय प्राथमिक शाला चांटीडीह में स्वयं के व्यय  गया है। जबकि अभी शिक्षाकर्मी का ट्रांसफर नहीं हो सकता। इस वर्ग के ट्रांसफर पर अभी बैन लगा हुआ है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार अभी जो ट्रांसफर होना है वह नियमित कर्मचारियों का होना है जिसमे संविलियन प्राप्त शिक्षक एल भी शामिल है। आपको बता दें कि जिस शिक्षिका का तबादला किया गया है उसका संविलियन अभी जुलाई 2019 में हुआ है। लेकिन ट्रांसफर का आवेदन जून से ही शुरू हो गया था।

डेली न्यूज़ अपडेट के लिए ABDS NEWS की ऑफिसियल व्हाट्सएप्प ग्रुप से जुड़े। नीचे ज्वाइन लिंक से –

Join Our Whatsapp Group

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here