शिक्षाकर्मी वर्ग 1 (व्याख्याता पंचायत) को मिला 10 लाख एरियर्स राशि :

0

शिक्षाकर्मी वर्ग 1 (व्याख्याता पंचायत) को मिला 10 लाख एरियर्स राशि :

व्याख्याता पंचायत को एरियर्स राशि के रूप में 10 लाख रूपये दिया गया है। ये राशि कोर्ट के आदेश से मिला है इस पुरे मामले को यहाँ आपको विस्तार से बताते है ,,दरअसल व्याख्याता पंचायत केशव कुमार कौशिक ने पिछले पांच वर्ष की एरियर्स राशि के लिए कोर्ट में याचिका दायर किया था। जिसे नजरअंदाज किया गया और बाद में अवमानना याचिका फिर से दायर किया गया और उक्त व्याख्याता पंचायत को एरियर्स राशि कोर्ट के माध्यम से प्राप्त हुआ।

हाईकोर्ट  के आदेश के बाद व्याख्याता पंचायत को 10 लाख रूपये एरियर्स राशि के रूप में प्रदान करने के बाद अवमानना याचिका निराकृत कर दिया गया। इस पुरे मांमले को विस्तार से समझें।

 पढ़ें >> 

> समयमान वेतन के लिए पंचायत संचालनालय से पत्र जारी -पात्र शिक्षकों को मिलेगा लाभ।

> मध्यप्रदेश के तर्ज पर क्रमोन्नति वेतन की मांग -देखें क्या है मप्र में क्रमोन्नति नियम

व्याख्याता पंचायत केशव कुमार कौशिक की नियुक्ति 2005 में शिक्षाकर्मी वर्ग 1 के रूप में हुई थी बाद में इन्होने 2013 में जिला पंचायत रायपुर में नवीन नियुक्ति के तहत व्याख्याता पंचायत के रूप में ज्वाइन किया। इस समय इनका सेवा 8 वर्ष पूरा हो चूका था और पुनरीक्षित वेतन पाने का हकदार भी था। लेकिन इनकी नियुक्ति फिर से नई हो गयी।

व्याख्याता पंचायत ने इसके लिए अदालत का शरण लिया और इन्हे 2018 में शासन द्वारा लागु पुनरीक्षित वेतन मिलने लगा। इस समय याचिकाकर्ता की सेवा 13 वर्ष हो चूका था यदि इनकी पूर्व सेवा 2005 को जोड़ दिया जाए। इसका मतलब ये हुआ की उक्त व्याख्याता पंचायत 2013 में आठ साल की सेवा पूर्ण कर कर चुका था।

हाईकोर्ट में एडवोकेट अजय श्रीवास्तव के माध्यम से उक्त व्याख्याता पंचायत ने पिछले पांच वर्ष की एरियर्स राशि के लिए फिर से याचिका दायर किया जिस पर 2013 से 2018 तक पांच वर्ष का पुनरीक्षित वेतन देने का आदेश जारी हुआ जिसका पालन जिला पंचायत द्वारा नहीं किया गया।

आदेश का पालन नहीं करने पर पुनः दोबारा अवमानना याचिका दायर की गयी जिस पर सम्बंधित से जवाब तलब हुआ और व्याख्याता पंचायत को पिछले पांच वर्ष का एरियर्स राशि 10,15,699 (दस लाख ,पंद्रह हजार ,छः सौ निन्यानवे रूपये ) दिया गया।

कोर्ट में दोबारा अवमानना याचिका की सुनवाई के दौरान बताया गया कि याचिकाकर्ता व्याख्याता पंचायत को 5 वर्ष की एरियर्स राशि 8 जनवरी 2020 को प्रदान किया गया है। इसके बाद उक्त याचिका को निराकृत कर दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here